Latest job news, Exams, GPSC, UPSC, Sarkari Nokari, Bharati Updates, GK, General Awareness, OJAS

एक सक्षम सूचना अधिकारी में किन गुणों का होना आवश्यक हैं? वर्णन कीजिए

एक सक्षम सूचना अधिकारी में किन गुणों का होना आवश्यक हैं? वर्णन कीजिए

इसके साथ ही उसके अधीनस्थ कर्मचारी भी होते है । सूचना विभाग एक सूचना केन्द्र का अंग होता है जहाँ उसके ऊपर के अधिकारी भी होते हैं अतः यह आवश्यकता है कि वह अधिकारियों के प्रति जवाबदेह हो । उसे समय का पाबंद होना अति आवश्यक है क्योंकि सूचना डेस्क का सीधा संबंध जिज्ञासुओं से पड़ता है। उसमें उच्च अधिकारियों को समय-समय पर विवेकपूर्ण राय देने की क्षमता भी होना चाहिए जिससे वह सूचना विभाग की प्रगति हेतु लगातार धन आदि प्राप्त कर सके व इसके अतिरिक्त वह जिज्ञासुओं की भावी आवश्यकता का पूर्व अनुमान लगा सकने वाला अर्थात दूरदर्शी भी हो ता सूचना विभाग निरंतर प्रगति कर सकता हैं ।
सूचना अधिकारी के पाठकों का अतिशीघ्र उत्तर देना होता है अत: उसमें शीघ्र निर्णय लेने की क्षमता भी होना आवश्यक हैं । उसे प्रशासकीय समस्याओं को समझने की योग्यता तथा इससे निपटने की सामर्थ्य होना चाहिए | उसमें तर्क संगत तथा यथार्थवादी समाधान प्राप्त करने की योग्यता होनी चाहिए | उसे न्यायप्रिय निष्पक्ष व दबावरहित होना चाहिए | उसमें विवेकपूर्ण राय देने की क्षमता होनी चाहिए | उनके कार्यों का मूल्यांकन करने तथा दिशा निर्देश देने की क्षमता भी होनी चाहिए | उसमें दूसरे की बातों को सुनने तथा तर्कसंगत एवं यथार्थवादी समाधान प्राप्त करने की योग्यता भी होनी चाहिए । स्वस्थ शरीर के साथ स्वस्थ मस्तिष्क वाला व स्थिर बुद्धि वाला व्याल होना आवश्यक है। उसका सहनशील होना अति आवश्यक है।
क्योंकि पुस्तकालय में विभिन्न स्वभाव वाले व्यक्ति आते हैं । सूचना अधिकारी गुस्सा थकने वाला, चिड़चिड़ा, शीघ्र थकने वाला एवं आलसी बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए ।

4. सूचना अधिकारी की योग्यताएं

सूचना अधिकारी का उच्चशिक्षित होना अति आवश्यक हैं | यह भी संभव है कि सूचना अधिकारी की योग्यता पुस्तकालयाध्यक्ष/ निदेशक से भी अधिक हो सकती है |
1. शैक्षणिक योग्यताएं : सूचना अधिकारी की योग्यताएं पुस्तकालय का प्रकार आकार आदि तथा सूचना केन्द्र के जिज्ञासुओं/ पाठकों की आवश्यकताओं पर निर्भर रहती है। विशिष्ट पुस्तकालयों में उस विषय का विशिष्ट ज्ञान प्राप्त हो तो ही वह अच्छी व सक्षम सूचना सेवाएं प्रदान कर सकता हैं, उदाहरणार्थ चिकित्सा शोध पुस्तकालय में चिकित्सा विज्ञान स्नातक हो तो अति उत्तम सूचना प्रदान कर सकता है । परन्तु बहुत बार इतनी योग्यता के व्यक्ति सूचना अधिकारी के रूप में व्यवसाय का चयन नहीं करते । ऐसी स्थिति में यदि सूचना अधिकारी कम से कम बॉयलाजी, केमेस्ट्री में स्नातक हो तो भलीभाँति सूचना सेवाएं प्रदान कर सकता है। परन्तु यदि वे कला स्नातक है तो विज्ञान के क्षेत्र से परिचित होने में बहुत समय लग सकता हैऔर वह भलीभाँति सूचना सेवाएं प्रदान नहीं कर सकता | शोध छात्रों तथा प्राध्यापकों के साथ समकक्ष रूप से अपने आप को प्रस्तुत कर पाने हेतु यदि सूचना अधिकारी स्नातकोत्तर एवं पी.एच.डी. हो तो और भी उत्तम होगा ।
2. व्यावसायिक योग्यताएं : सूचना अधिकारी के लिए यह आवश्यक है कि वह पुस्तकालय तथा सूचना विषय में कम से कम स्नातकोत्तर स्तर तक प्रशिक्षित हो । संभव हो तो पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान में पीएच डी उपाधि भी प्राप्त होना चाहिए ।
महाविद्यालय, विश्वविद्यालय के शोध पुस्तकालयों में आजकल सूचना अधिकारी/सहायक पुस्तकालयाध्यक्ष के ग्रेड हेतु नेट अथवा समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण करना भी आवश्यक बना दिया गया हैं ।

सूचना अधिकारी के क्या कार्य हैं ।

। उपरोक्त योग्यताओं के साथ यह आवश्यक है कि सूचना अधिकारी को कम्प्यूटर का आधारभूत ज्ञान हों । यदि संभव हो तो बीसीए या एमसीए डिग्रीधारी इस पद हेतु सुयोग्य माना जायेगा । परन्तु उपरोक्त योग्यताओं के साथ यह योग्यताएं भी विदयमान हो यह आसानी । संभव नहीं होता । अतः यदि वह पी जी डी सी ए उत्तीर्ण हो तथा पुस्तकालय सॉफ्टवेयरों का ज्ञान रखता हो वह योग्य सूचना अधिकारी हो सकता हैं । यह आवश्यक है कि सूचना अधिकारी इंटरनेट सरफिंग, सूचना खोज आदि में पारगत हों | आजकल सूचना प्रौद्योगिकी में अनेकों कोर्स प्रारंभ हो चुके हैं और वह दिन दूर नहीं जब आई टी प्रोफेशनल सूचना अधिकारी के रूप में कार्यरत देखे जा सकते हैं । | 3. अन्य योग्यताएं- शैक्षणिक एवं व्यावसायिक योग्यताओं के अतिरिक्त निम्न दक्षता भी सूचना अधिकारी को होनी चाहिए:
(1) भाषाओं का ज्ञान : सूचना अधिकारी के लिए आवश्यक है कि उसे अंग्रेजी भाषा पर मजबूत पकड़ हो क्यों कि अभी भी भारत में उपयोगी अधिकतर शोध प्रलेख अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित होते है इसके साथ ही सूचना अधिकारी को एक क्षेत्रीय भाषा का ज्ञान भी होना अति आवश्यक है | यदि सूचना अधिकारी हिन्दी भाषी राज्य के अतिरिक्त अन्य राज्य का है तो हिन्दी का साधारण ज्ञान भी अति उत्तम रहेगा ।

 सूचना अधिकारी की क्या शैक्षणिक योग्यताएं होनी चाहिए?

(2) सामान्य ज्ञान : सूचना अधिकारी का सामान्य ज्ञान जितने उच्च स्तर का होगा वह उतना ही अच्छा सूचना अधिकारी सिद्ध हो सकेगा । अतः उसे हमेशा नवीनतम सूचनाओं से अद्यतन होना आवश्यक हैं ।। 5. सारांश
उपरोक्त इकाई से स्पष्ट है कि बिना गुणी एवं सक्षम सूचना अधिकारी के सूचना विभाग की गति संभव नहीं है । एक योग्य पारंगत सूचना अधिकारी सूचना विभाग को उच्च स्तर तक उठा सकता है ठीक उसी प्रकार जैसे बिना दीपक के प्रकाश संभव नहीं उसी प्रकार बिना सूचना अधिकारी के सूचना सेवा संभव नहीं है। इस इकाई में आपमें सूचना अधिकारी के गुणों एवं योग्यताओं के बारे में जानकारी प्राप्त की । इसी इकाई में सूचना अधिकारी के कार्यों का भी अध्ययन किया हैं । सैद्धांतिक आधार पर सूचना अधिकारी का आदर्श रूप बताया गया है। किंतु व्यवहारिक रूप में सम्पूर्ण गुण एवं योग्यताएं एक ही सूचना अधिकारी में होना असंभव है। अत: सूचना अधिकारी के आवश्यक एवं अपेक्षित एवं संभावित गुणों का वर्णन किया गया है । 6. अभ्यासार्थ प्रश्न
. सूचना अधिकारी कभी भी सम्पूर्ण नहीं हो सकता । एक सूचना अधिकारी के आवश्यक
गुणों का वर्णन कीजिए । 7. विस्तृत अध्ययनार्थ ग्रन्थसूची
1. चतुर्वेदी, डी.डी, संदर्भ सेवा के विविध आयाम, मुम्बई, हिमालया, 1994 2. सुदरेश्वरन, के.एस., संदर्भ सेवा सिद्धांत और प्रयोग, चतुर्थ संस्करण, भोपाल, मध्यप्रदेश | हिन्दी ग्रंथ अकादमी 1997 3. Prashar, R.G., Ed. Library and Information Science: Parameter and
Perspectives. 2v. New Delhi, Concept. 1997. 4. सूद, एस.पी., सम्पादक, प्रलेखन एवं सूचना विज्ञान, वितीय संस्करण, जयपुर, प्रिंटवेल, 1998 

0 Comments:

Post a Comment

Menu :
Powered by Blogger.

pppppp